गुरुसत्संग : हमें जो यह जनम मालिक ने दिया है इसे व्यर्थ न गवाये : Hamen jo Yah Janam Maalik Ne Diya Hai Ise Vyarth Na Gavaaye :: GuruSatsang

🌷 *गुरुसत्संग*🌷
गुरुसत्संग : हमें जो यह जनम मालिक ने दिया है इसे व्यर्थ न गवाये : Hamen jo Yah Janam Maalik Ne Diya Hai Ise Vyarth Na Gavaaye :: GuruSatsang
गुरुसत्संग : हमें जो यह जनम मालिक ने दिया है इसे व्यर्थ न गवाये : Hamen jo Yah Janam Maalik Ne Diya Hai Ise Vyarth Na Gavaaye :: GuruSatsang
*सतगुरु जी कहते है हमें जो यह जनम मालिक ने दिया है इसे व्यर्थ न गवाये।*

*हमारा हर दिन नया जन्म है हमारी हर साँस उस मालिक की दी हुई है। हमें नहीं मालूम कब यह डोर टूट जायेगी।*

*हमें चहिये की हर समय मालिक को पाने के लिए भजन सिमरन करते रहे मालिक अपने तरफ कदम बढ़ाने वाले को आगे हो कर गले लगते है।जो मालिक का प्यारा बन जाता है उसे हमेशा के लिए अपने चरणो में जगह देते है।।*
🌷 *GuruSatsang*🌷

गुरुसत्संग : हमें जो यह जनम मालिक ने दिया है इसे व्यर्थ न गवाये : Hamen jo Yah Janam Maalik Ne Diya Hai Ise Vyarth Na Gavaaye :: GuruSatsang

Post a Comment

[random][list]
[blogger][facebook]

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.