गुरुसत्संग : सत्संग से क्या खोया - क्या पाया : What did you Lose from Satsang - What did you Find :: GuruSatsang

🌷 *GuruSatsang*🌷
सत्संग से क्या खोया - क्या पाया : What did you Lose from Satsang - What did you Find :: GuruSatsang
सत्संग से क्या खोया - क्या पाया : What did you Lose from Satsang - What did you Find :: GuruSatsang
एक बार एक सज्जन ने किसी सत्संगी से पूछा ,"तुमने पूरी जिंदगी सत्संग में गुजार दी , तुमने ऐसा क्या पाया"
सत्संगी ने मुस्कराते हुए कहा , "मैंने क्या पाया है ये तो पता नहीं , लेकिन मैंने कुछ खोया जरूर है" 

सज्जन बोले क्या ? 

सतसंगी ने कहा, वो है मेरा क्रोध , वो है मेरा तनाव , वो है मेरा घमण्ड , वो है मेरा लालच , वो है मेरा स्वार्थ , वो है मेरी ईर्ष्या , वो है मेरी भटकती सांसारिक इच्छाएँ और मौत का डर...!!

🌷 *GuruSatsang*🌷

सत्संग से क्या खोया - क्या पाया : What did you Lose from Satsang - What did you Find :: GuruSatsang

Newer Post
This is the last post.

Post a Comment

[random][list]
[blogger][facebook]

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.